आज भारत एक ऐसे कालखंड से गुज़र रहा है जो शायद भारत का इतिहास बदल रहा है। हमारे नौनिहालशायद एक नया इतिहास पढ़ेंगे। आज भारतवासी एक नए ऊर्जा के साथ भारत के लिए, भारत में काम कर रहें हैं। आज लोग स्वयं को मिलने वाली सरकारी गैस अनुदान को छोड़रहे हैं, अपने मोहल्ले, शहर आदिको स्वच्छ रखने का प्रयास कर रहे हैं। एक नयी राष्ट्रीयता की भावना पनप चुकी है। हम आज देश एवं विदेश में अपनी संस्कृति एवं सैन्य ताक़त का गर्व से प्रदर्शन कर रहे हैं। हम आज प्रगति की बात सोच रहे हैं वो भी एक नए तरीक़े से।

इन्हीं विचारों के साथ एक कविता प्रस्तुत है जो हमको एक नया भारत बनाने में अपना योगदान देने की प्रेरणा देता है। एक नया भारत बनाने के लिए हम जो बदलाव स्वयं में, अपने परिवार में, अपने समाज में, अपने राष्ट्र में व अन्तर्राष्ट्रीय व्यवहार में ला सकते हैं, उसका एक सुझाव इस कविता के माध्यम से प्रस्तुत है। कविता पढ़ने के लिए नीचे दिया लिंक पर जाएँ।

https://drive.google.com/file/d/1i6WiYL2Uax2uYgWlTQz79PCeXz_GCtMc/view?usp=drivesdk